Gujarat assembly elections 2022 : जाने गुजरात की राजनीति में करोड़पति उम्मीदवार

0
943
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Gujarat assembly elections 2022 : राजनीति में पद, प्रतिष्ठा और मोभानी पाने और लोगों की सेवा कर विजेता बनने की बात कही। अब अमीर उम्मीदवारों(Gujarat Assembly Election 2022 Candidates List) की बात करें तो बीजेपी के पास कांग्रेस से ज्यादा करोड़पति उम्मीदवार हैं.

सत्ता के केंद्र में विधायक पद(Gujarat Election Candidates) के लिए हो रही है खींचतान. कई विधायक जो सालों से विधानसभा में बैठे हैं और सामाजिक कार्य करके सम्मान और अवसर प्राप्त किया है, वे संघर्ष कर रहे हैं, गुजरात की राजनीति में ऐसे विधायक भी हैं। जिनकी दौलत लाखों में नहीं करोड़ों में है। बीजेपी हो, कांग्रेस हो या कोई और पार्टी हो, ऐसे कई उम्मीदवार हैं, जो हारे हुए हैं. लग्जरी कारों का बेड़ा, लाखों नकद और करोड़ों की संपत्ति। पहले चरण के नामांकन पत्रों में जारी आंकड़ों के मुताबिक बीजेपी के 60 से ज्यादा और कांग्रेस के 35 से ज्यादा उम्मीदवार करोड़पति हैं.

राज्य विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के लिए कुल 89 सीटों के लिए नामांकन पत्र भरे जा चुके हैं. जिसमें 60 से अधिक सीटों के भाजपा उम्मीदवारों को करोड़पतियों की सूची में शामिल किया गया है. इसके अलावा करोड़पति के रूप में पेश हलफनामे में कांग्रेस के 35 से अधिक और आम आदमी पार्टी के 7 उम्मीदवारों का जिक्र है.

Advertisement

धनकुबेर उम्मीदवारों में सबसे अमीर राजकोट-68 विधानसभा से कांग्रेस के उम्मीदवार इंद्रनील राज्यगुरु हैं, जिनके पास 159.84 करोड़ रुपये की संपत्ति है। 100 करोड़ से अधिक की संपत्ति के साथ दूसरे सबसे अमीर उम्मीदवार द्वारका सीट से भाजपा के पबुभा मानेक हैं। जिनके पास कुल 115.58 करोड़ रुपये की संपत्ति है।

भाजपा के सात उम्मीदवारों के पास 30 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है जबकि कांग्रेस के सात उम्मीदवारों के पास 10 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है. जबकि आपके 2 उम्मीदवारों के पास 8 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है. गृह मंत्री हर्ष संघवी की संपत्ति 17 गुना बढ़ गई है। वर्ष-2017 में हर्ष संघवी की संपत्ति 1.77 करोड़ रुपये थी जो वर्ष-2022 में बढ़कर 17.14 करोड़ रुपये हो गई है।

बीजेपी के एक और करोड़पति उम्मीदवार की बात करें तो राजुला की उम्मीदवार हीरा सोलंकी के पास 53.50 करोड़ की संपत्ति है. भावनगर ग्रामीण सीट से प्रत्याशी परसोतम सोलंकी के पास 53.39 करोड़ की संपत्ति है। सूरत उत्तर सीटसे कांतिबलारके पास 52.14 करोड़ रुपये की संपत्ति है। जामनगर-78 सीट से प्रत्याशी रीवाबा जडेजा के पास 35.62 करोड़ की संपत्ति है। तो जेतपुर सीट से प्रत्याशी जयेश राडिया के पास 33.10 करोड़ की संपत्ति है.

Advertisement

वहीं अब कांग्रेस के करोड़पति उम्मीदवारों की बात करें तो रापड़ सीट से उम्मीदवार बचूभाई अरदिया रु. 98.48 करोड़ की संपत्ति है। द्वारका सीट से उम्मीदवार मुलोभा कंडोरिया के पास रु. 85.41 करोड़ की संपत्ति, सावरकुंडला सीट से प्रत्याशी प्रताप दुधात रु. 18.93 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। तो लाठी सीट के उम्मीदवार वीरजी थुम्मर के पास रु. 11.37 करोड़ की संपत्ति। राजुला सीट से उम्मीदवार अंबरीश डेर रु. 11.16 करोड़ की संपत्ति है।

विधायक बनने के बाद वेतन के अलावा विधायक की सैलरी लाखों रुपए में होती है। जहां तक ​​भत्तों का सवाल है, फोन बिल, यात्रा भत्ता, समिति सीट किराया, निजी सहायक भत्ता, चिकित्सा उपचार खर्च और स्टेशनरी खर्च उपलब्ध हैं। इन सभी भत्तों को मूल वेतन 78 हजार रुपये में जोड़ा जाता है।

आजकल राजनीति में होने का मतलब सत्ता में होना है। सत्ता के केंद्र में रहकर जनहित में काम करने के लिए सामाजिक रूप से स्वीकार्य पद पाने का प्रयास है लेकिन इस राजनीति का मिजाज भी कुछ अलग है, कहा जाता है कि राजनीति में कुछ भी स्थायी नहीं होता।

Advertisement

पद और प्रतिष्ठा का सम्मान। सब कुछ आज है कल नहीं। कई विधायक ऐसे हैं जो सालों तक चुने गए और सालों तक लोगों की सेवा की। जनहित के कई काम किए। लेकिन आज वे नशे की हालत में जी रहे हैं। वर्षों तक लोगों की सेवा की लेकिन अब वे जीविकोपार्जन के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

Advertisement

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here