क्या डोनाल्ड ट्रंप को जेल हो सकती हैं ? | Is Donald Trump Going To Jail ?

0
461
Stormy Daniels and Trump
Stormy Daniels and Trump (Image Credits ANI)
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

रंगीन जिंदगी जीने वाले डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump)पर अमेरिकी एडल्टस्टार द्वारा लगाए गए आरोपों ने अमेरिका के राजनीतिक इतिहास में खलबली मचा दी थी और अब इसी मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं और ट्रंप पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है. मैनहट्टन कोर्ट में ट्रंप के खिलाफ 34 आरोपों की फाइल जज की टेबल पर पहुंच गई है. सरेंडर करते ही डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump)ने सभी आरोपों का खंडन किया। हालांकि कोर्ट ने ट्रंप के बरी होने या गिरफ्तारी पर फैसला सुनाने के लिए 8 महीने की तारीख दी है. जिसने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप के निजी जीवन से लेकर राजनीतिक सफर पर भी तलवार लटका दी है.

रंगीन जिंदगी जीने वाले डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump)पर अमेरिकी एडल्टस्टार द्वारा लगाए गए आरोपों ने अमेरिका के राजनीतिक इतिहास में खलबली मचा दी थी और अब इसी मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं और ट्रंप पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है. मैनहट्टन कोर्ट में ट्रंप के खिलाफ 34 आरोपों की फाइल जज की टेबल पर पहुंच गई है. सरेंडर करते ही डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump)ने सभी आरोपों का खंडन किया। हालांकि कोर्ट ने ट्रंप(Donald Trump Rally) के बरी होने या गिरफ्तारी पर फैसला सुनाने के लिए 8 महीने की तारीख दी है. जिसने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप के निजी जीवन से लेकर राजनीतिक सफर पर भी तलवार लटका दी है.

क्या डोनाल्ड ट्रंप जेल जा रहे हैं ? | Is Donald Trump Going To Jail ?

अमेरिका के 234 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी राष्ट्रपति के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। ट्रंप पर आरोप है कि 2016 के राष्ट्रपति चुनाव से पहले एडल्टस्टार स्टॉर्मी डेनियल्स(Stormy Daniels) के साथ उनके संबंध थे और उन्हें चुप रहने के लिए भुगतान किया गया था। हालांकि, तथ्य यह है कि ट्रंप के खिलाफ यह अकेला मामला नहीं है। चूंकि, उनके खिलाफ अब तक कुल 19 मामले लंबित हैं और 50 फीसदी मामलों में उन पर राष्ट्रपति रहते हुए कदाचार का आरोप है. डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump Memes)के खिलाफ चल रहे ज्यादातर मामले 3 चीजों से जुड़े हैं। जिनमें से पहला वित्तीय गड़बड़ी है जिसने उसे और अधिक पैसा बना दिया। दूसरा मामला 6 जनवरी 2021 को संसद में हुई हिंसा में ट्रंप की भूमिका और तीसरा मामला 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में दखल देने की कोशिश का है.

Advertisement

ट्रंप पर लगे इन तमाम आरोपों में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) और एडल्टस्टार स्टॉर्मी डेनियल्स(Stormy Daniels) के रिश्तों की चर्चा सबसे ज्यादा हो रही है. ट्रंप की शख्सियत ऐसी है कि माहौल गर्म कर देती है और न्यूयॉर्क में मैनहट्टन डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के बाहर कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला. ट्रंप के विरोधी और समर्थक बड़ी संख्या में जमा हो गए। डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) अमेरिका के पहले पूर्व राष्ट्रपति हैं जिनके खिलाफ कोर्ट ने कानूनी कार्रवाई करने का फैसला किया। हालांकि, यह भी एक सच्चाई है कि ट्रंप के लिए कानूनी लड़ाई और कोर्ट ऑफिस की उलझनें कोई नई बात नहीं है लेकिन यह मामला ऐसे समय में सामने आया है जब वह 2024 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अपनी दावेदारी और चुनाव प्रचार की घोषणा कर चुके हैं.

स्टॉर्मी डेनियल्स(Stormy Daniels) के साथ रिश्ते की वजह से डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) की तीसरी शादी भी खतरे में है. गौरतलब है कि ट्रंप की पिछली दो शादियां हो चुकी हैं और उनकी तीसरी शादी मेलानिया से हुई थी. ट्रंप 58 साल के थे और मेलानिया 34 साल की जब उन्होंने शादी की थी। ट्रम्प ने 2005 में मेलानिया से शादी की और 2006 में एडल्टस्टार के साथ अफेयर शुरू किया। अफेयर के 2 महीने पहले ही ट्रंप और मेलानिया के बेटे का जन्म हुआ था। ट्रंप की तीसरी शादी की चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि सरेंडर करने के बाद ट्रंप ने मीडिया से बात की और परिवार का शुक्रिया अदा किया.

पूर्व राष्ट्रपति ने अपनी बेटी का नाम इवांका, टिफनी, एरिक और बैरन ट्रंप भी रखा लेकिन मेलानिया के बारे में कुछ नहीं कहा। जिससे ट्रंप के इस डर्टी सीक्रेट से उनकी तीसरी शादीशुदा जिंदगी में खलबली मचने की चर्चा ने भी जोर पकड़ लिया है. जिससे यह कहना अनुचित नहीं होगा कि एडल्टस्टार स्टॉर्मी डेनियल्स(Stormy Daniels) के साथ संबंधों के चलते डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) की निजी जिंदगी से लेकर राजनीतिक जीवन तक की यात्रा पर अब खतरा मंडरा रहा है. अमेरिका के 234 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ आपराधिक मामले में मुकदमा चलाने पर हर कोई राजी हुआ है। हालांकि सच्चाई यह है कि ट्रंप अपने ऊपर लगे आरोपों को राजनीतिक बता रहे हैं. ट्रंप कई बार कह चुके हैं कि बाइडेन के इशारे पर उन्हें झूठे मामले में फंसाया जा रहा है। आरोप चाहे जो भी हों, कारण कोई भी हो, यह बात तो तय है कि अगर ये आरोप सही साबित होते हैं तो डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) को जेल जाने से कोई नहीं रोक सकता.

Advertisement

ट्रंप के खिलाफ मंगलवार को हुई अदालती कार्यवाही की बात करें तो मैनहट्टन कोर्ट में डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) पर 34 आरोप लगाए गए हैं. हालांकि इन सभी आरोपों को खारिज करते हुए ट्रंप ने कोर्ट में खुद को बेगुनाह बताया था. मैनहट्टन कोर्ट ने ट्रंप की जमानत या गिरफ्तारी पर फैसला 4 दिसंबर तक के लिए सुरक्षित रख लिया है. फिर अगले 8 महीने के दौरान ट्रंप के खिलाफ इस कार्रवाई में पांच तारीखें अहम भूमिका निभाएंगी. जैसा कि कोर्ट ने 9 मई तक आरोपों से जुड़े सबूत पेश करने को कहा है. जबकि 8 जून तक ट्रंप अपने बचाव में सबूत दे सकते हैं. लिहाजा 8 अगस्त तक ट्रंप की टीम इस मामले को खारिज करने के लिए आवेदन कर सकती है. विपक्ष के पास मामले को खारिज करने के ट्रम्प के प्रस्ताव पर बहस करने के लिए 19 सितंबर तक का समय होगा और उसके बाद, ट्रम्प को 4 दिसंबर को अदालत में पेश होना होगा जब न्यायाधीश मार्चेन सभी गतियों पर शासन करेंगे।

4 दिसंबर को अगर ट्रंप पर लगे आरोप साबित हो जाते हैं तो ट्रंप को जेल हो सकती है और कम से कम 4 साल की सजा काटनी पड़ सकती है, ऐसे में यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि क्या डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) जेल में रहते हुए भी चुनाव लड़ सकते हैं. तो आपको बता दें कि अमेरिकी कानून के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) को 4 साल की जेल की सजा का राष्ट्रपति चुनाव लड़ने पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि अमेरिकी संविधान या कानून में जेल से चुनाव लड़ने पर कोई रोक नहीं है. फिर सवाल यह भी उठता है कि अगर ट्रंप जेल से चुनाव लड़कर जीत जाते हैं तो क्या होगा? तो बता दें कि ट्रंप को चुनाव हारने के बाद भी अपनी सजा पूरी करनी होगी. राष्ट्रपति के रूप में वह जेल में बैठकर भी सरकार चला सकते हैं।महत्वपूर्ण बात यह है कि जब ट्रम्प राष्ट्रपति चुनाव हार गए, तो पूरे अमेरिका में दंगे भड़क उठे और इसे आज भी कैपिटल गेट कांड के रूप में याद किया जाता है। फिर 4 दिसंबर को अगर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) को जेल की सजा हो जाती है तो ट्रंप के समर्थकों को नहीं लगता कि वे अमेरिका में विरोध की ज्वाला भड़काने में पीछे हट जाएंगे और इसका डर अब सबको सताने लगा है. आम आदमी से लेकर अमेरिका की सरकार तक।

Advertisement

Advertisement
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here